Make Money Idea Technology

E commerce business kaise start kare ? 2021 में | start a e-commerce online business

E commerce business kaise start kare
Written by Raja Gorain

आज हम इस पोस्ट मे यही बात करेंगे कि E commerce business kaise start kare
तो चलिए शुरू करते है। तो जरा सोचिए हम e commerce कि बात क्यु कर रहे। Bill gates ने एक बार कहा था कि अगर आपका business internet पर नही है तो आपका business business है ही नही।
Amazon, flipkart और snapdeal जैसे e-commerce sites ने दिखा दिया है, कि यही business का future है। और क्योंकि लोगो ने e commerce marketing के साथ experiment किया। इसलिए आज ये इतने बड़े sites है। अगर अब भी आपको इस business मे आने के फायदे का पता नही चला है। तो चलिए कुछ numbers की बात करते हैं।

E commerce Business के बारे में –

2017,2018 के economic services से पता चला है कि इंडिया मे e commerce marketing का estimate 33 million के आस पास है। जो कि 2016 , 17 growth rate का 19 प्रतिशत से भी ज्यादा है। तो क्या अब आप तैयार है। अपना e commerce business शुरू करने के लिए।

तो चलिए अब जान लेते है कि e commerce business शुरू करने के लिए आपको किन steps को फॉलो करना होगा।

E commerce business kaise start kare

E commerce business kaise start kare

E- Commerce business kaise start kare ?

ई-कॉमर्स बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको निम्नलिखित बाते को follow करना होगा |

  1. Create a perfect business plan and model
  2. Branding the business:
  3. Register e commerce business
  4. Open bank account
  5. Create e commerce website:
  6. payments gateways
  7. Logistic

1. Create a perfect business plan and model :-

जो चीज़ आपको सबसे पहले करनी है, वो ये है कि आपको अपने business model plan के बारे details मे सोचना होगा। Shopify के CEO ने कहा है कि e commerce एक industry नही है।

ये एक पूरी planing है। एक tactic है। अब आपके पास दो तरह के business model के option है। या तो आप single vendor store बनाए और या फिर आप multi vendor e commerce market place store बनाए। आप इसे अपने बजट के हिसाब से चुन सकते हैं।

  • Single vendor market place:– अगर आपका बजट कम है, तो आप single vendor को चुन सकते हैं। इसमे आप किसी एक ही टाइप के product या service को अपने e commerce site पर बेचते हो।

एक तो इसमे administrative cost बहुत कम पड़ता है। और दूसरा पूरा कंट्रोल आपके हाथ मे रहता है।

  • Multi vendor marketplace :- इसमे कई सारे sellers कई तरह के प्रोडक्ट एक ही e commerce site पर बेचते हैं। इसके अपने फायदे है। बड़े प्लेटफॉर्म के profit भी बड़े होते हैं। और लोगो को एक ही प्लेटफॉर्म पर अपनी use की सारी चीज़े मिल जाती है।

तो customers भी बढ़ते हैं। इस तरह के business मे एक security ये भी होती है। कि अगर आपका suppliers किसी भी reason से unavailable है तो आपका दूसरा supplier customer को प्रोडक्ट बेच सकता है। जिससे customer बने रहे। दोनो ही टाइप के model के अपने फायदे है।

आप अपने हिसाब से चुन सकते हैं। अगर आपको अपना ही प्रोडक्ट sell करना है तो आप single vendor store बना सकते हैं। और अगर आप चाहते हैं। कि दूसरे लोग आपकी store पर आ कर अपना प्रोडक्ट बेचे तो आप multi vendor store create कर सकते हैं। प

हले टाइम मे आप जितना चाहे उतना margin दे सकते हैं। क्योंकि प्रोडक्ट आपका ही है। और दूसरी situation मे आपको हर seller से commission मिलता है।

2.Branding the business:-

अब जब आपने ये decide कर लिया है कि आपको कौन से model का e commerce business start करना है। और अपने प्रोडक्ट और seller की लिस्ट बना ली है। तो अब बरी है business name चुनने की।

आपको अपना business name चुनते हुए इस बात का ध्यान रखना है की आप को एक brand का name चुनना है। अब आपको नाम चुनते हुए किन किन बातों का ध्यान रखना है।

नाम छोटा हो जिसे याद रखने मे आसानी हो। आपके business को reflect कर रहा हो। Unique हो और जिसका किसी दूसरे language मे कोई और मतलब ना हो। जैसे ही आप एक बढ़िया सा नाम चुन लेते है। आपको इसके लिए एक लोगो भी design करवा लेना है।

जिसे company logo कहा जाएगा। आप चाहे तो अपने business name के first letter से logo design करवा सकते हैं। जैसे Amazon, flipkart का logo है। अब जब आपने नाम और logo final कर लिया है। तो next step है company की type को final करना। इंडिया मे चार तरह के कंपनिया होती है।
Sole proprietorship जिसमे liability के कोई limitation नही होती।

One person company , limited liability partnership जिसे llb कहते हैं। या फिर private limited company अब इनमे से आपको अपने company का type चुनना है। आप independently company चलाना चाहते हैं। या partners के साथ मिल के।

इसी से company का type decide होगा। ये एक बहुत ही important step है। क्योंकि अगर आप corporate या partnership based structure चुनते हैं। तो आपको एक text id number लेना होगा। और tax return file करना होगा। इस type के online business मे employer identification number जिसे EIN कहा जाता है।

जिसके बाद आपको एक business bank account open करवाना होता है। जिससे आप financial year मे business tax भर सके। लेकिन अगर आप sole proprietor ship model को चुनते है। तो आपको tax I’d number लेने की जरूरत नही पड़ेगा |

आप अपने social Security number को use कर सकते हैं। जो आपको registration के वक़्त दी जाएगी। इसके बात हम next step मे करेंगे।

E commerce business kaise start kare

E commerce business kaise start kare

3. Register e commerce business:-

ये e commerce business start करने का सबसे important part है। सबसे पहले DIN मतलब की directors identification number के लिए आपको ministry of corporate affairs के online website पर जाकर form भरना है। और सारे जरूरी documents वहाँ upload करने है।

इसके लिए आपके पास आपका pan card और digital signature certificate होना चाहिए। जब आपको आपका DIN मिल जाए तब आप अपनी company के नाम की availability को चेक करने के लिए ROC मतलब की register of company मे apply करना है।

ये काम भी आप ministry of corporate affairs की website पर कर सकते हैं। नाम confirm होने के बाद आपको 6 महीने का time दिया जाता है। Company के बाकी process के लिए। इसके बाद भी आपको कई सारे चीजों के लिए apply करना है।

जैसे gst certificate , shops और establishment licence के लिये prominent fund organisation से PF open करने के लिए employees state insurance corporation के employees से medical insurance के लिए और सबसे लास्ट मे आपको certification of company incorporation से companies act 2013 के under company के registration के लिये apply करना है।

Also Read –  High  Profit Business ideas 

4. Open bank account:-

एक बार आपके कंपनी register हो जाए। उसके बाद आपको अपनी company के ही नाम से एक bank account open करवाना है। आप account किसी भी bank मे खुलवा सकते हैं।

अगर आपने अपनी online business के लिये proprietorship model को चुना है तो gst registration करवाना होगा। उसके बाद ही आपकी company के name से account खुलवा सकेंगे।

5. Create e commerce website:-

अब आप अपना website दो तरीके से बना सकते हैं।

1. Pre built platform –

1. Pre built platform कि help से बना सकते हैं। और या फिर scratch programming language से बनवा भी सकते हैं।
Pre built platform जैसे word press और wix के use मे फायदा ये है कि आप को कई सारे ready made templates मिल जाते हैं।

जिसमे से आप अपनी पसंद का template चुन कर खुद भी अपना website बना सकते है। अगर आपको कोई programming language नही आता है। या सिर्फ HTML आता है। तो scratch website , woo commerce , magneto, sell online with shopify , zepo और kart rocket कुछ ऐसे options है।

जिससे आप e commerce business बना सकते है। अब आपको चुनना है कि आपको किसकी help से आपको अपना website बनाना है। आपकी पूरी business आपकी website पर ही depend करता है। तो आपको बहुत सोच समझ कर और अच्छे से अपने website को design करना या करवाना है।

Company की website launch करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।
1. आपको पहले ही ये decide करना है। की आप अपने website को sell host करके या इसके लिए कोई professional को hire करेंगे। जो आपकी site को daily basis पर चलायेगा।

2. आपको ये देखना है कि

daily आपकी website पर जो भी पोस्ट हो रहा है। उसमे product और service की पूरी detail product की साफ picture और offers के बारे मे दिया हो।

E commerce business kaise start kare

E commerce business start kaise kare

6. Payment gateways:-

आपको अपनी online business को और profitable बनाने के लिए इसमे payment gateway set करने की जरूरत है। जिसमे हर popular payment method जैसे credit card, debit card , net banking और cash transaction के option होने चाहिए। कुछ popular payment gateway है।

Paypal, pay u और razorpay अपने online website पर payment gateway grant करवाने के लिए आप को कुछ documents submit करने होंगे।

जैसे bank account in the same name of the business , pan card of the business, certificate of incorporation , memorandum of association , articles of association , identity proof , address proof , website terms of use , website privacy policy एक बार आपके जब ये सारे documents approve हो जाएगे तब आप अपने website पर online payment start कर सकते है।

7. Logistic :-

इंडिया मे एक successful e commerce business के लिए ये स्टेप बहुत जरूरी है। Logistic का मतलब किसी customer को order भेजवाने के पूरे process है। यह process ship किये गए समानो पर भी नजर रखती है। जब तक की वो customer को मिल ना जाए।

इसमे customer भी अपने product को track कर पाता है। जिससे उसे उस website पर भी भरोसा होता है। तो चलिए अब जान लेते हैं, की customer को अपनी website कि तरफ कैसे attract करे?
Wal mart के CEO ने कहा है।

आप ये expect नही कर सकते की आपकी website खोलते ही वहाँ customers की भीड़ आ जाए। अगर आप सच मे succeed होना चाहते हैं। तो आपको traffic create करनी होगी। Traffic create करने के लिए कुछ steps आप follow कर सकते है।

1. Seo marketing:-

smart marketing के लिए पूरी दुनिया आज search engine optimization मतलब की seo की marketing strategy का use कर रही है।

अगर आप online customers को अपने e commerce business के तरफ attract कर सके , तो यही आपकी success होगी। यही पर seo strategy काम आती है। Seo search engine आप को पहले पेज पर लाने मे मदद करता है।

2. Choose right keywords:-

रिपोर्ट के अनुसार हर 1 मिनट मे 7 lakh google searches की जाती है। अगर आप इन searches मे आना चाहते हैं। तो आपको targeted keyword का इस्तेमाल करना होगा।

अपने online business को search engine मे लाने के लिए आपको अलग तरह के keywords का इस्तेमाल करना होगा। Google keyword planner , google auto suggest , keyword tool. Io , keyword dominator और semrush जैसे टूल्स आपकी help कर सकते है।

उन keywords का use करने मे जिससे आपका product search engine मे आ जाए।

3. Advertisement:-

advertisement एक दूसरा तरीका है जिससे आप customer के आँखों के सामने आ सकते है । आप इसके लिए social media site जैसे Facebook और Instagram पर paid ad option का इस्तेमाल कर सकते हो।

एक बार लोगो ने आपके ads पर क्लिक किया और आपके website पर आ गए। उसके बाद ये आपका काम है, उनको अपना permanent customer बनाए रखना।

4. Retargetting:-

re targeting के ऐसा process है, जिसमे जो लोग एक बार आपकी site पर आ जाते हैं। और बिना कुछ खरीदे आपकी site बन्द कर देते हैं। उनकी computer पर एक cookie बन जाती है।

उसके बाद ये customer किसी और website पर जाते हैं, तब retargeting network से उनके screen पर आपकी website के ad दिखते है। ये तरीका expensive है, लेकिन इससे ज्यादतर positive results देखने को मिलते हैं।

5. Old methods:-

अगर आपके पास ज्यादा resorts process नही है। जिससे आप इतने online promotion जैसे expensive roots से customer को attract कर सको। तो आप पुराने methods का use कर सकते है। आप paper advertising कर सकते है।

आप अपने customer को कह सकते हो की वो अपने friends और family को आपका brand replacement करे। आपका professional bloggers और youtubers के साथ hire कर सकते हो। और उन्हे कह सकते हो की वो आपके brand के लिए article लिखे या वीडियो बनाये।

इसके अलावा और भी कई सस्ते तरीके है। जिससे आप अपना reach बढ़ा सकते हो। तो दोस्तो आज के इस time मे इंडिया मे e commerce business start करना एक अच्छा idea है।
हमे उमीद है की आज का हमारा ये पोस्ट पसंद आया होगा। और अच्छी तरह से समझ आया होगा।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने e commerce website बनने से सम्बंधित जाना की E commerce business kaise start kare इसके साथ ही इसमें क्या क्या process होती है सारी जानकारी लेने की कोशिश की |

उम्मीद है आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी अगर मन कोई प्रश्न हो तो comment करके पूछ सकते है| |

About the author

Raja Gorain

Leave a Comment