Education

Judge kaise bane ? – पूरी जानकारी

judge ke padhai kaise kare
Written by Raja Gorain

दोस्तों देश में क़ानून व्यस्था में अगर आप जज के रूप में काम करना चाहते है तो आप बिलकुल सही रस्ते पर है क्योकि भारत देश में जज की संख्या काफी कम है और बहुत कम ही लोग है जो इस क्षेत्र में काम करने की सोच पाते है | दोस्तों इस पोस्ट में जानेंगे judge kaise bane इसके साथ ही ये भी जानेंगे की कैसे आप कानून की पढाई कर सकते है |

जज बनने के लिए आपको कुछ विशेष चीजों का ध्यान रखना होता है जो हमागे इस पोस्ट में बात करेंगे | तो चलिए बिना किसी देरी के शुरू करते है |

Judge kaise bane ? (How to become a Judge)

देश में कानून कि पढ़ाई के लिए एक समय में सिर्फ LLB यानि Bachelor of Law कि पढ़ाई कराई जाती थी। इसके बाद सीधा युवा अदालत में जाकर Practice का काम शुरू कर देते थे।

अनुभव और ज्ञान के साथ ऐसी युवाओ को धीरे -धीरे पद और समाज में प्रतिष्ठा हासिल होती थी। लेकिन आज 12वी की परीक्षा के बाद 5 वर्षीय Degree course मे छात्रों को BA के साथ LLB की Degree दे दी जाती है। इसे professional Degree का भी दर्जा मिला हुआ है। Degree हासिल करने के बाद छात्रों के लिए अदालत में practice के राह तो है ही। राज्यसतर पर न्याय सेवा में भरती के लिए समय समय पर परीक्षा भी आयोजित कि जाती है। यहाँ prosecutor जिसे सरकारी वकील कहा जाता है।

judge kaise bane

judge kaise bane hindi

उसके रुप में काम करने का मौका है। न्याय सेवा परीक्षा के जरिए राज्यो में जूनयोसतर पर judge कि भरती होती है। सात साल कि practice के बाद judiciary परीक्षा पास करके जिलासतर पर judge बन सकते हैं। 10 साल कि practice के बाद high court में judge बनने का मौका मिलता है।

और दूसरा कहा है रोजगार के अवसर। बजारी करण और उदारीकरण के व्यवस्था लागू होने के बाद देश भर में banking और finance सेवा का विस्तार हुआ है।

देशी से लेकर विदेशी कंपनियां शहर से लेकर गांव तक व्यवसाय को बढ़ावा दे रही हैं। इसके अलावा corporate जगत भी अपना पैर पसार रहा है। ऐसी व्यवस्था में commerce और management के अलावा बड़े पैमाने पर कानून के छात्र को भी नौकरी मोहिया करई जा रही है।

कंपनियो और legal form में वदोद अधिकारी या advisor के रूप में law के छात्रों को रखा जा रहा है। निजी या सरकारी बैंक सिर्फ manager accouter या clerk ही नहीं अपने यहाँ law अधिकारी भी नियुक्त कर रहा है। इसी तरह taxation से जुड़ी कंपनियां अपनी यहाँ law के विशेषज्ञों को रख रही हैं।

MNC में प्रबंधको कि टीम में एक विधि विषेज्ञयो को भी प्रबंधक के रूप में रखा जा रहा है। निजी कंपनियों और बैंको के विस्तार ने No graduance को नौकरी के नए अवसर मुहुइया कराए है। इनसे हट कर मीडिया जगत में परंपरागद लेखक या पत्रकार के अलावा विधि संपादन या लेखक अवनी अलग जगह बना रही है।

बडी बडी मीडिया संस्थान कानून से संबंधित खबरो को प्रकाशित करने में सावधानी बनाए रखने के लिए अपने यहाँ low graduate को reporting या लेखन के काम से जोड रही है। इनकेअलावा बहुत सारे ऐसे क्षेत्र हैं, जहाँ कानून के जानकारो को रखा जा रहा हैं।

High court या Supreme Court कि reporting के लिए भाषा यगबाहो या अंग्रेजी low graduate को काम पर रखा जा रहा है। पत्र पत्रीका में लेखन के लिए भी विधि विषेज्ञ जगह बना रही है।

Management schools या law विधालय या अधयापन के लिए low graduate को अवसर मोहिया कराया जा रहा है। अधयापन के लिए आमतौर पर LLM and Neg PhD छात्रों को करियर मौहिया कराया जा रहा है। और तीसरा है इसकी पढ़ाई कैसे करे? judge kaise bane

Judge की पढाई कैसे करे ?

इस क्षेत्र  में आने कि सफलता हासिल करने के लिए अच्छे खासे हुनर होने कि भी जरुरत पड़ती हैं।

  • तीन साल कि LLB की degree होनी चाहिए
  • इसके साथ ही कानून कि धाराए और उससे जुड़े मामले का सेधानतिक और व्यवहारिक ज्ञान का होना जरूरी हैं।
  • इस तरह कि जरुरतो को देखते हुए ही देश में जगह जगह law school और university खोले गए हैं। इनमें दाखिल लेके आप अलग अलग test देने के वजह CAT,MAT के दर्ज पर 6 साल पहले plague शुरू किया गया है।

common law admission test यानी एक ही प्रवेश परीक्षा के जरिए आज 16 law university में दाखिले का मौका मिल रहा है।

Also Read – Youtuber कैसे बने – पूरी जानकारी 

जज बनने के लिए फॉर्म कैसे भरे ?

  • दाखिले कि प्रक्रिया 1 January से जारी होती हैं।
  • form भरने कि आखरी तारीक 31 march होती हैं।
  • प्रवेश परीक्षा 10 may को होती हैं।
  • परीक्षा लेने कि जिम्मेदारी ईश्वर राम मनोहर लोहिया National law university Lucknow को सौंपी गई हैं।

इसके अलावा बहुत सारे विधालय अपने यहाँ CLAT के जरिए post graduate course LLM में भी दाखिला दे रहे हैं।

  • दाखिले के योग्यता CLAT यानी common law test के जरिए 5 परस LLB में 12वी पास छात्रों को arts, commerce या science में 45 फीसदी अंको के साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य हैं।
  • इसी तरह 2 वर्षीय LLM में LLB 25 फीसदी अंको के साथ उतलीन होना अनिवार्य हैं।
  • आरक्षित वर्ग के लिए नयुनितम अंक में 5 फीसदी कि छुट है, जो छात्र BA के बाद LLB करना चाहते हैं।
  • उन्हें स्नातक सतर पर 50 फीसदी अंक के साथ उतिलद होना अनिवार्य हैं। और चौथा परीक्षा का पैटर्न कैसा होता हैं?
  • स्नातक सतर पर के course में दाखिले के लिए 2 घंटे का पेपर होगा।

ये वस्तु निष्ठ उतरो पर आधारित है। जिनमें अंग्रेजी , गणित, सामान्य विज्ञान legal aptitude and reasoning से सवाल पुछे जाते हैं। और पांचवां करियर अवसर और सैलरी। जिला अदालतो से लेकर उच्च और उचयतम न्यायलय में आज वतौर और काम करने के लिए काफी space हैं।

विदेशी और देशी पत्र पत्रीकाओ और चैनलो में विधि कि जानकार को संवाददाता या reporter के रूप में रखा जा रहा है। Banking सेवा वित्त विभाग और अन्य कंपनियों में कानूनी पहलु को समझने और सुलझाने के लिए law graduates रखे जा रहे हैं।

जिला अदालतो और उच्च अदालतो में judge के रूप में काम करने का अवसर हैं। सरकारी वकील के लिए परीक्षा पास करके करियर कि राह चुनी जा सकती हैं। legal form या निजी कंपनियों में advisor के रूप में काम कर सकते हैं।

judge ke padhai kaise kare

judge kaise bane

judge की salary कितनी होती है ?

वकील का वेतन आमतौर पर उसके काम से जुड़ा हैं। लेकिन न्यायिक सेवा में आने पर शुरुआत सतर पर वेतन मान 40 से 45 हजार रुपए हैं।

यह आगे चलकर वरिष्ठता के क्रम से बढ़ता जाता है। अध्यापन के क्षेत्र में आने पर 55 हजार रुपये प्रतिमाह वेतनमान हैं। बैंक या किसी form में law अधिकारी बनने पर वेतनमान करीब 45 हजार हैं।

हालांकि कंपनियां अपनी हैसियत के मुताबिक प्रबंधको की तरह विधि विशेषज्ञों को लाख से ऊपर की सैलरी पर भी रखती हैं।  निजी practice के रूप में लाखों रुपये कमाए जा सकते हैं।

जज बनने का course कहाँ से करे ?

जैसा की भारत बहुत बड़ा देश है तो इसमें अलग अलग राज्यों में कई collages है जहाँ से आप जज का course कर सकते है निचे हमने कुछ प्रमुख collages के नाम दिए है जहाँ से आप जज की तैयारी कर सकते है |

ये course कराने वाले प्रमुख संस्थान है –

  • एन एल आई यू बैंगलुरू ,
  • नालसार हैदराबाद ,
  • एल एल आई यू भोपाल,
  • डबलू बी एन यू जे एस कोलकाता ,
  • एन एल यू जोधपुर ,
  • एच एन लयू रायपुर ,
  • जी एन एल यू गांधी नगर ,
  • आर एम एल एन एलस लखनऊ ,
  • आरिज एन एल यू पटियाला ,
  • सी ज न एल यू पटना ,
  • एन यू एलस कोची ,
  • एन एल यू उड़ीसा ,
  • एन यू एस आर एल रांची ,
  • एन एल यू ज गुवाहाटी ,
  • डी एस एन एल यू विशाखापटनम ,
  • टी एन एन एल एस तिरूचिरापलली।

दोस्तों ये वो प्रमुख collages है जो अपने आप में प्रशिद्ध है और यहाँ law की पढाई अछे से होती है |

निष्कर्ष

दोस्तों हमे उम्मीद है आपको ये पोस्ट काफी पसंद आया होगा जिसमे हमने पढ़ा judge kaise bane और साथ ही जज बनने के लिए क्या क्या तैयारी करनी होती है साथ ही इससे सम्बंधित जितनी भी जानकारी देनी थी हमने इस पोस्ट के माध्यम से दिया |

अगर इस पोस्ट से सम्बंधित कोई सवाल हो तो आप comment में पूछ सकते है साथ ही इस पोस्ट को दोस्तों के साथ share जरुर करे |

Also Read – Cyber security क्या है – पूरी जानकारी 

About the author

Raja Gorain

Leave a Comment