Health Tips

whey protein के फायदे | पूरी जानकारी | नुकसान | Benefits of whey protein

protein powder ke fayde
Written by Raja Gorain

दोस्तों आज इस पोस्ट हम आपकी Whey protein powder से सम्बंधित सारी समस्या दूर करेंगे इसमें सबसे महत्वपूर्ण होगी whey protein powder ke fayde और इसके नुक्सान साथ ही 10 ऐसी महत्वपूर्ण समस्याओं के जवाब बताएँगे जिसे आपका जानना बेहद जरुरी है जैसे –

  • Protein powder बनता कैसे है ?
  • Protein powder कितने तरह की होती है और इनमे से आपको कौन सा इस्तेमाल करना चाहिए?
  • protein powder ke fayde
  • protein kab lena chahiye ?
  • क्या protein बनाने मे किसी chemical का इस्तेमाल किया जाता हैं?
  • क्या protein powder का कोई side effect हो सकता हैं?
  • क्या protein powder की इस्तेमाल से kidney damage या pimples की problem होती हैं?
  • Protein powder किसे इस्तेमाल करना चाहिए और किसे नही करना चाहिए?
  • एक दिन में कितना protein scoop लेना चाहिए?
  • Protein powder लेने का सही समय क्या है यानी सुबह , दोपहर , शाम exercise से पहले या exercise के बाद?
  • Protein powder किस चीज़ के साथ लेना चाहिए? यानी दूध या पानी
  • किस company का protein powder सबसे अच्छा होता है? और original protein powder की पहचान कैसे करना चाहिए
  • क्या ज्यादा protein powder के इस्तेमाल के कोई नुकसान भी हो सकता है?

तो आइये शुरु करते है —

protein powder ke fayde

protein powder ke fayde

1.Protein powder कैसे बनता है?

Basically protein एक macro nutrient होता है। कुछ protein powder plan source से भी बनाया जाता हैं। लेकिन market मे मिलने वाले ज्यादा तर protein powder दूध से बने होते है, और इसे बनाने के लिए दूध फाड़ कर दो हिस्से मे किया जाता है।

जिसमे मलाई वाले हिस्से से पनीर या फिर protein बनाया जाता है। और जो नीचे पानी वाली चीज बचती है, उससे ही pay protein बनाया जाता हैं। लेकिन यहाँ एक सवाल ये भी उठता है की दूध के बचे हुए पानी से ही protein बनाया जाता हैं। तो क्यों ना protein की कमी पूरा करने के लिए उस पानी का ही इस्तेमाल किया जाए।

लेकिन यहाँ समझने वाली बात ये है कि ये जो दूध से बना हुआ पानी होता है, इसमे protein की बहुत ही कम मात्रा होती हैं। और 90% से ज्यादा पानी मौजूद होती हैं। अगर सीधी भाषा मे कहा जाए तो एक scope जो protein powder होता है उसकी कमी को पूरा करने के लिए लगभग दो litre से भी ज्यादा liquid पीना पड़ेगा।

जो किसी भी साधारण व्यक्ति के लिए possible नही है। जो कोई company दूध से बची हुई पानी से protein बनाती है तो पहले इस पानी को macro fielteration किया जाता हैं। और उसके बाद final process मे एक ऐसी machine मे डाला जाता है, जिसमे पानी vaporized होकर protein fat और carbohydrate powder form में अलग निकल जाता हैं।

और इस process मे 1 kg protein powder बनाने के लिए लगभग 100 kg से भी ज्यादा whey liquid की जरूरत पड़ती है। protein powder ke fayde

2. Protein powder कितने तरह का होते है और इसमे से कौन सा आपको इस्तेमाल करना चाहिए?

दोस्तो factory से तीन तरह का whey protein powder बन कर निकलता है।

  1. whey protein concentrate जो की सबसे सस्ता होता है। क्योंकि इसमे protein के साथ साथ fat और carbohydrate ज्यादा मात्रा मे होता है।
  2. whey protein isolate – जिसमे concentrate के मुकाबले carbohydrate और fat कम और protein ज्यादा मात्रा मे मौजूद रहता है। और इसलिए इसकी कीमत भी concentrate protein से थोड़ा ज्यादा होती हैं।
  3. whey protein hydrolyzed – दोस्तो ये protein powder मे सबसे ज्यादा pure protein होता है। क्योंकि इसमे fat और carbohydrate पूरी तरह से निकाल दिया जाता है। और जो बचता है वो pure और high quality protein होता है। अब यहाँ ये सवाल उठता है की आपको इनमे से कौन सा protein powder इस्तेमाल करना चाहिए।

दोस्तो अगर overall quality और बजट के मुताबिक देखे तो whey protein isolate सबसे ज्यादा बेहतर होता है। लेकिन आपको सिर्फ वजन बढ़ाना है तो whey protein concentrate भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

जबकि जो लोग weight loss और fat maintain रखना चाहते हैं तो ऐसे लोगो को whey protein isolate ही इस्तेमाल करना चाहिए। क्योंकि isolate whey protein मे carb और fat की मात्रा कम होती हैं।

जबकि protein ज्यादा मात्रा में रहता है। और अगर बात की जाए whey protein hydrolyzed की तो ये high quality protein होने की वजह से शरीर मे सबसे ज्यादा तेजी से absorb होता है।

इसलिए इसे सिर्फ ऐसे लोगो को ही इस्तेमाल करना चाहिए । जो की advance level पर training करते हैं। और किसी competition मे हिस्सा लेते है। लेकिन साधारण gym करने वाले लोगो को hydrolyzed protein की बिल्कूल जरूरत नहीं पड़ती।

protein powder ke fayde

protein powder ke fayde

3. क्या protein powder मे कोई chemical का इस्तेमाल किया जाता है ?

दोस्तो यहाँ हमारे और आपके समझने वाले बात ये है कि whey protein दुनिया मे सबसे ज्यादा बिकने वाला supplement माना जाता हैं।

  • इसलिए इसमे मिलावट होने की chances ज्यादा होती हैं। और खास करके इस situation मे मिलावट की chances ज्यादा बढ़ जाते है, जब हम जरूरत से बहुत ज्यादा सस्ते protein की तरफ जाते है।
  • हालाँकि सस्ता protein खरीदना कोई बुरी बात नही है। लेकिन quality मे बिना ध्यान दिए जरूरत से बहुत ज्यादा सस्ता protein के तरफ जाना सही option नही है।
    क्योंकि ये बात बताना जरूरी नही है की कोई भी company business करने और पैसा कमाने के लिए ही market मे product launch करती हैं। और इसलिए जब हम quality नही बल्कि price की तरफ attract होते है,
  • तो company के लिए मिलावट करना और ज्यादा आसान हो जाता है। और तब company product को सस्ता बनाने के लिए protein मे आधी ऐसी चीज़े मिला देती हैं जिसकी हमारे शरीर को जरूरत ही नही है।
  • तब हम protein को ख़रीद कर ऐसा सोचते है कि हमे कम पैसे मे ज्यादा protein मिल गया। मगर हकीकत कुछ और ही होती है। इसलिए सस्ता या महंगा कोई भी protein powder खरीदे तो डब्बे पे nutritional information और ingredients list को check करना बिल्कुल भी ना भूले और अगर उसमे gluten artificial colour sugar high carb high fat किसी भी तरह के oil या maltodextrin जैसी चीजों का इस्तेमाल किया गया हो। तो ऐसे protein powder को बिल्कुल भी ना खरीदे।
  • खास कर कुछ company protein powder को ज्यादा सस्ता बनाने के लिए और ज्यादा customer को अपने तरफ attract करने के लिए maltodextin जैसी चीजों का इस्तेमाल करते हैं।
  • Basically maltodextin एक सफेद powder की तरह होता है। क्योंकि protein supplement मे filler, thicker या preservative की तरह काम करता है। और ये चीनी से कई ज्यादा खतरनाक होता है। जो की शरीर मे चर्बि पैदा करने के साथ साथ पेट से जुड़ी कई तरह के समस्या भी पैदा कर सकता है।
  • साफ लफ़्ज़ों मे कहा जाए तो protein powder मे maltodextin का इस्तेमाल company ज्यादा मुनाफा कमाने और quantity को बढ़ाने के लिए करती है।

क्योंकी जब कम पैसों मे कोई भी चीज़ ज्यादा मिलती है। तो लोग उसके तरफ ज्यादा attract होते है। और इसी बात का कोई भी company फायदा उठाती है।
Calculation करके देखा जाए तो 1 kg protein की कीमत लगभग 1000 से 1500 रुपये होती है, जबकि 1 kg maltodextin सिर्फ 30 से 40 मे आता है।

इसे कुछ मात्रा मे protein powder मे मिलाने से देखकर बिल्कुल भी पता नही लगता की इसमे मिलावट की गयी है। और इसलिए ज्यादा तर customer बिना ingredients list check किए हुए सस्ता protein समझ कर खुशी खुशी चीज़े खरीद लेते है।

जो की उनके शरीर को आगे जाके नुकसान पहुँचाने वाली होती हैं। इसलिए किसी भी protein powder को खरीदने से पहले उसका ingredients list check करना बिल्कुल भी ना भूले। साथ ही साथ ये भी ख्याल रखना जरूरी है की protein powder duplicate ना हो।इससे protein powder ke fayde ख़त्म हो जाती है |

क्योंकि duplicate protein powder के अंदर कुछ भी हो सकता है। हालांकि आगे इसी पोस्ट मे हम जानेंगे की original supplement को कैसे पहचाना जा सकता है। और कौन सी company का protein supplement अच्छा होता है।

4. क्या protein supplement के regular इस्तेमाल से कोई side effects भी हो सकता है?

दोस्तो protein का फायदा या नुकसान करना protein की quality पर depend करता है। जैसा की हमने पहले ही जाना की protein powder दूध से बनाया जाता हैं।

इसलिए protein powder की quality जानवर को खिलाए जाने वाला चारा। जानवर का सेहत जानवर से निकाले जाने वाले दूध की quality पे depend करता है।

और अगर इनमे से किसी भी चीज के साथ मिलावट की जाए तो protein की quality खुद वा खुद खराब हो जाएगी। और जो की शरीर को नुकसान भी पहुँचा सकता है। लेकिन अगर protein मे कोई मिलावट करना हो और इसका एक सेहत मंद वाक्ति सही मात्रा मे इस्तेमाल करता है। तो ये शरीर को नुकसान नही बल्कि शरीर को बहुत सारा फायदा पहुचाता है।

हालांकि शुरूआत् मे protein powder के इस्तेमाल से कुछ लोगों मे आपचन् जैसी समस्या देखने को मिलती है। इसलिए ऐसे मे जरूरी है की protein powder पीने वाले लोगो को अपने खाने मे कुछ सब्जी और सलाद को भी जरूर सामिल करना चाहिए। ताकि सही पाचन के लिए fiber की कमी को पूरा किया जा सके।

और पढ़े – How to become IAS officer

protein powder ke fayde

protein powder all details hindi

5. किन लोगो को protein powder इस्तेमाल करना चाहिए और किसे नही करना चाहिए?

दोस्तो protein हमारी शरीर मे जाने के बाद liver मे amino acid मे टूटता है। और इस process मे जितना protein होगा उसी हिसाब से nitrogen waste भी निकलता है। जो की filter करने के लिए kidney यानी हमारे गुर्दे मे भेज दिया जाता हैं।

लेकिन यहाँ हमारे समझने वाली बात ये है , की दूसरे organ के मुकाबले kidney हमारे शरीर मे दो होती है, और इसलिए एक सही मात्रा मे लिए गए protein से निकलने वाले nitrogen waste को एक सेहतमंद kidney आसानी से filter कर लेती है।

लेकिन इसके लिए ये भी जरूरी है की दिन भर मे 2.5 से 3 litre पानी पीने का खास खयाल रखा जाए। लेकिन साथ ही साथ यहाँ ध्यान देनी वाली बात ये है की जिनकी kidney पहले से ही damage है। protein powder ke fayde जानते है |

उन्हे तब तक protein powder का इस्तेमाल नही करना चाहिए । जब तक की kidney पूरी तरह से ठीक ना हो जाए।
क्योंकि kidney से जुड़ी समस्या मे अपने kidney को rest देना बहुत जरूरी होता है। और क्योंकि protein powder की इस्तेमाल से kidney का काम थोड़ा बढ़ जाता हैं।

इसलिए इस समस्या को और भी ज्यादा बढ़ा सकता है। यहाँ लोग एक सवाल ये भी पूछते है की protein powder से चेहरे पे acne, pimple की problem होती है। अगर चेहरे पे पहले से pimple की problem नही है तो protein powder सही मात्रा मे इस्तेमाल करने से ये skin की quality पर बुरा असर नही डालता। लेकिन अगर चेहरे पे पहले से ही pimple की problem है तो protein powder उसे बढ़ा जरूर सकता है।

क्योंकि protein powder की इस्तेमाल से शरीर मे IGF 1 name का insulin spike होता है। जो की skin मे oil की production maker बड़ी पैदा करता है। और जिसे pimple की problem और भी तेजी से बढ़ने लगती है। और इतना ही नही। अगर कोई वाक्ति pimples की problem होते हुए mass gainer का इस्तेमाल करता है। तो ये pimples की problem को और भी बत से बतर बना देता है।

इसलिए जिन लोगो के चेहरे पे पहले से pimple की problem होती हैं। उन्हे खाने की जरिए protein को पूरा करने की कोसिस करना चाहिए। और अगर फिर भी protein powder का इस्तेमाल करना चाहते है, तो isolate protein powder को कम मात्रा मे इस्तेमाल करना चाहिए।

यहाँ एक बात का और ख्याल रखना जरूरी है कि protein supplement बच्चो के लिए बिल्कुल भी recommended नही होता है। क्योंकि बच्चो का वजन कम होने की वजह से उनकी शरीर मे खाने के जरिए ही protein की कमी पूरी हो जाती है। इसलिए बच्चो को supplement के जरिए protein देने से उनकी kidney पे बुरा असर पड़ सकता है।इससे protein powder ke fayde नही मिलेगी |

6. एक दिन मे कितना scope protein powder लेना चाहिए?

अगर किसी वाक्ति का वजन 50 kg है तो उसको 40 से 50 gm protein लेना चाहिए। और अगर कोई वाक्ति gym या exercise करता है। तो protein की मात्रा 1.5 से 2 gm / kg weight बढ़ाई जा सकती है।

लेकिन इसका मतलब ये बिल्कुल नही है की पूरे दिन की protein intake सिर्फ whey protein से ही पूरा किया जाए। क्योंकि whey protein powder एक supplement होता है। और supplement का मतलब ही होता है।

सिर्फ support करना। इसलिए protein powder को protein का primary source की तरह बिल्कुल भी use नहीं करना चाहिए। जिसका मतलब है की पहले जंहा तक हो सके खाने की चीजों के जरिए protein की कमी पूरा करने की कोसिस करना चाहिए। और जितना protein बाकी रहे उसे protein supplement के जरिए पूरा करना चाहिए।

और क्योंकि average weight की समनाये वाक्ति दिन भर मे 40 से 50 gm protein की जरूरत पड़ती है। इसलिए उनके लिए दिन भर मे 1 scope protein लेना काफी हो जाता हैं।

क्योंकि एक scope protein powder consume करने से लगभग 24 से 28 gm protein शरीर को मिल जाते है। और कुछ protein तो दाल, चावल , दूध, अंडा , मछली और चिकन जैसी खाने के जरिये भी पूरे हो जाते हैं।
लेकिन अगर कोई वाक्ति gym या exercise करता है, तो 1 से2 scope protein दिन भर मे लिया जा सकता है।

लेकिन यहाँ भी वही बातें ख्याल रखना चाहिए। की जंहा तक हो सके पहले खाने के चीजों के जरिए protein की कमी को पूरा करना चाहिए। और जो बाकी रह जाए उसे protein supplement के जरिए पूरा करनी चाहिए, और हमेशा ही एक बात का ख्याल रखना चाहिए की पूरी तरह से protein supplement पे बिकुल भी depend नही होना चाहिए। क्योंकि अगर खान पान ठीक ना हो तो सिर्फ अकेले protein supplement कुछ भी नही कर सकता।

protein powder ke fayde

protein powder ke fayde

7. Protein powder लेने का सही समय क्या है?

दोस्तो वैसे तो protein powder का इस्तेमाल कभी भी किया जा सकता है।

लेकिन exercise के 1 घंटे पहले या बाद मे लेना ज्यादा बेहतर option हो सकता हैं। क्योंकि protein exercise मे break down हुए muscle को repair करने मे बहुत मदद करता है।

वैसे कुछ लोग सिर्फ exercise के बाद ही protein लेना ज्यादा पसंद करते हैं। लेकिन यहाँ ध्यान देने वाली बात ये है कि protein exercise से पहले या excercise के बाद ले इसका शरीर पे उतना ही असर होता है। इसलिए आपको इन दोनों समय मे जब भी comfortable महसूस हो ले सकते हैं।

और अगर आप दिन भर मे दो scope protein इस्तेमाल करते हैं तो 1 scope exercise से पहले या बाद मे इस्तेमाल करे। और 2 scope सुबह या रात को सोने से आधे घंटे पहले इस्तेमाल करे। क्योंकि हमारे शरीर को सुबह और रात मे भी protein की जरूरत पड़ती है।

8. Protein को किस चीज़ के साथ ले दूध या पानी ?

दोस्तो whey protein fast digestible होता है। इसलिए अगर आप इसका इस्तेमाल exercise से पहले या बाद मे करते हैं तो आपको इसे पानी के साथ ही लेना चाहिए। ताकि ये आसानी से शरीर मे absorb हो जाए।

क्योंकि whey protein को दूध के साथ मिलाकर पीने से दूध मे मौजूद fat इसे ज्यादा heavy बना देता है। जिससे ये पचने मे ज्यादा समय लेता है। लेकिन आप इसे सुबह या रात को सोने से पहले लेते है तो आप इसका इस्तेमाल दूध के साथ कर सकते हैं। क्योंकि ये सुबह या रात मे हमारे शरीर को धीरे धीरे ही protein की जरूरत पड़ती है।

9. क्या protein powder के ज्यादा इस्तेमाल से कोई नुकसान हो सकता हैं।

तो इसका जवाब है बिल्कुल हो सकता हैं। हालांकि protein water soluble होता है, इसलिए ये carbohydrate और fat की तरह हमारे body मे store नही होता।

इसलिए protein थोड़ा कम या ज्यादा होने से कोई problem नही है। लेकिन जब कोई वाक्ति जरूरत से ज्यादा मात्रा में protein का इस्तेमाल करता है तो इसका उस वाक्ति के kidney पर बुरा असर पड़ सकता हैं। क्योंकि शरीर मे जितना protein जाता है। वो amino acid मे टूटने के बाद nitrogen waste भी उससे उतना ही ज्यादा release होता है।

और जिसे filter करने के लिए kidney का काम बढ़ जाता है, और मतलब kidney को ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। और लगातार ऐसा करने से kidney damage होने की chance बढ़ जाती है। और इतना ही नहीं जरूरत से ज्यादा protein powder का ज्यादा इस्तेमाल करने से से body में IGF 1 insulin की मात्रा भी बढ़ा देती है। और इसलिए चेहरे पे acne pimple की chances बढ़ जाती है।

और पढ़े – UPSSSC Exam

body builder beginer guide about protein powder

protein powder ke fayde

10. किस company का protein सबसे ज्यादा अच्छा होता है?

और original protein को किस तरह पहचाने। दोस्तो इतनी सारी company supplement बनाती है जिसमे से सबसे अच्छा protein choose करना ये मेरे लिए आसान बिल्कुल भी नही था। लेकिन फिर भी मैंने कुछ ऐसे company के बारे मे बताने की कोसिस की ।

जिसके वाबजूद company के लिखे ingredients जरूर पढ़े उसका lab test result भी जरूर check कर ले। अगर मे बात करू तो मैंने अभी तक दो ही company का protein use की है जिसमे पहला है optimum nutrition काwhey protein. अगर आपका budget अच्छा है तो आप इस whey protein का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि इस price range मे ये Indian market मे मौजूद one of the best whey protein supplement है। protein powder ke fayde

हालांकि इसी price range मे my protein का impact भी whey protein और dimatize iso 100 भी अच्छी protein की श्रेणि मे आता है। ये सभी आपको अलग अलग flavor मे भी मिल जाते हैं, जो की ऐसे लोगो के लिए बेहतर होता है जो taste मे compromise बिल्कुल नही करना चाहते।

लेकिन यहाँ एक बात का ख्याल रखना जरूरी है की किसी भी protein मे flavor मे मिलाने के बाद उतना pure नही रह जाता। इसलिए हो सके तो बिना flavour वाला ही use करे। और दूसरा जो मैंने इस्तेमाल किया वो है asitis का whey protein अगर आपका budget कम है तो आपके लिए ये whey protein best है।

क्योंकि ये कम price मे मिलने वाला one of the best whey protein है। लेकिन क्योंकि ये raw supplement protein होता है इसलिए इसे पचाने मे किसी वाक्ति को दिक्कत हो सकती है। साथ ही साथ इसमे taste करने के लिए किसी भी flavor का इस्तेमाल नही किया गया है। अब बात आती है की इसमे से original protein को कैसे पहचाना जाए।

दोस्तो अगर आप asitis company का whey protein खरीदते है तो इसमे duplicate होने के ज्यादा chances नही होते। क्योंकि ये protein पहले से ही कम price मे आता है। इसलिए इसे कोई भी duplicate नही कहता।

फिर भी asitis protein की originality check करना बहुत आसान है और इसके लिए packet पे दिये गए qr code को lets verify name के एक app मे scan करने से 5 अंको का code आएगा जो की packet पर ही qr code के पास मे ही scratch करने पे मिल जाता है। उस code को app मे enter करके commit करने से ये पता चल जाएगा की protein असली है या नकली। protein powder ke fayde

लेकिन अगर आप on यानी optimum nutrition का protein खरीदते है तो इसमे original का पता लगाना थोड़ा complicated है। और क्योंकि on 30 साल पुरानी और famous company है इसलिए ज्यादा तर इसी company के product market मे देखने को मिलते है।

लेकिन आप on के whey protein को भी असानी से पहचान सकते हैं। उसके लिए ध्यान देना जरूरी है की on asitis की ही तरह india से बाहरी company है और इसलिए दो ही ऐसे company है जो की on company की product को India मे लाती है।

जिसमे एक है glanbia और bright company इसलिए on company की whey protein की डब्बे पे glanbia या bright company के किसी एक का बड़ा sticker जरूर लगा होता है। जो की duplicate product मे देखने को नही मिलता। और दूसरी बात ये है की डब्बे मे कहीं ना कहीं scratch code होता है।

जिसके जरिए sticker पे दिए गए direction को फॉलो करते हुए। ये पता लगाया जा सकता हैं की product असली है या नकली और on के डब्बे पे ढकन पे seal के साथ एक original hollow gram भी लगा होता है।

जो की डब्बे को tilt करने पे blow करते हैं। लेकिन यहाँ आप एक बात का ख्याल रखिये की इस पोस्ट मे कोई भी product sponsored नही है। और जो भी मैंने बताया है वो मेरा opinion है। किसी भी brand का नाम मैंने आपलोगो के आसानी के लिए बताया है। protein powder ke fayde पोस्ट को कृपया sponsored न समझे |

अंतिम शब्द

मुझे उम्मीद है की आपको idea लग गया होगा protein powder ke fayde के बारे में और साथ ही इससे सम्बंधित | Whey protein आपके लिए सही है या गलत। और आपको इसका किस तरह से इस्तेमाल करना है। तो बस आज के लिए इतना ही। और आशा करते है, आपको protein से जुड़ी सारी information मिल गयी होगी।

और अगर इससे जुडी कोई समस्या या फिर कोई प्रश्न हो तो आप निचे comment कर सकते है | धन्यवाद

About the author

Raja Gorain

Leave a Comment